Dashpurdisha

Search
Close this search box.

Follow Us:

फोरलेन टोल पर अवैध वसूली करने वाले नौ किन्नरो को भेजा जेल

दशपुर दिशा । दीपक सोनी
रतलाम । धराड और बिलपांच के बीच बने टोलबूथ पर अवैध वसूली करने वाले किन्नरों को जेल भेज दिया गया है। इससे पहले किन्नरों ने स्टेशन रोड थाने पर जमकर हंगामा किया। लेकिन बाद में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश खाखा की सख्ती के बाद किन्नर अनुशासन में आए और उन्हे थाने से रवाना किया गया। एसडीएम संजीव पांडेय के आदेश पर कुल नौ किन्नरों को जेल भेज दिया गया है।
उल्लेखनीय है कि सबसे पहले टोल बूथ पर किन्नरों की अवैध वसूली का मामला उठाया था। इसके बाद टोल बूथ से गुजरने वाले एक यात्री की शिकायत पर बिलपांक पुलिस ने चार किन्नरों के विरुद्ध अवैध वसूली का आपराधिक प्रकरण दर्ज किया था। आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के बाद किन्नरों ने पुलिस अधीक्षक राहूल कुमार लोढा को ज्ञापन देकर अवैध वसूली चालू रखने के लिए दबाव बनाने की भी कोशिश की थी।

आपराधिक प्रकरण में आरोपी बनाए गए चार किन्नरों की गिरफ्तारी के लिए जब पुलिस ने प्रयास किए तो कई किन्नर इसके विरोध में आ गए। पुलिस ने इन सभी किन्नरों को पकड लिया था। किन्नरों को जब स्टेशनरोड थाने पर लाया गया तो किन्नर जमकर हंगामा करने लगे। आखिरकार एडीशनल एसपी राकेश खाखा को थाने पर पंहुचकर स्थिति को काबू में करना पडा। नगर पुलिस अधीक्षक अभिनव वारंगे भी मौके पर पंहुच गए थे। एएसपी श्री खाखा की सख्ती के बाद किन्नर काबू मे आए और फिर उन्हे अनुविभागीय दण्डाधिकारी संजीव केशव पाण्डेय के समक्ष प्रस्तुत किया गया।
किन्नरों के हंगामे को देखते हुए कलेक्टोरेट परिसर में भी भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। किन्नरों को काबू में रखने के लिए बडी संख्या में महिला पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई थी। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एसडीएम श्री पाण्डेय ने कुल नौ किन्नरों को शांति भंग करने के आरोप में न्यायिक निरोध में जेल भेज दिया है।
पुलिस और प्रशासन की इस कार्यवाही की प्रशंसा की जा रही है। लम्बे समय से अनेक लोग किन्नरों की अवैध वसूली से परेशान थे। किन्नरों को खिलाफ हुई कडी कार्यवाही से अवैध वसूली का यह गोरखधन्धा अब बन्द हो जाएगा।

Admin
Author: Admin

Spread the love

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज