Dashpurdisha

Search
Close this search box.

Follow Us:

महिला से दोस्ती करना रेलवे इंजीनियर को पड़ी भारी, हिस्ट्रीशीटर बदमाश के साथ मिलकर महिला ने करवा दी इंजीनियर की हत्या

मंदसौर । पुलिस थाना भावगढ़ ने गत दिवस हुए अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए बताया कि महिला आरोपियां द्वारा मृतक के साथ न जाने एवं गाली गलौच करना रहा हत्या की प्रमुख वजह रहा ।
पुलिस ने प्रेसवार्ता में घटना का विवरण देते हुए दिनांक 21 जनवरी को गांव के चौकीदार द्वारा थाना भावगढ़ पर सूचना दी कि खोडाना गुराडीया के कच्चे रास्ते पर एक लाल रंग की ब्रेजा कार जिसका नंबर MP43CB 0143 में एक व्यक्ति औंधे मुँह पड़ा हुआ है । चौकीदार की सूचना पर पुलिस थाने से तुरंत टीम रवाना होकर घटना स्थल पहुंची जहाँ लाल रंग की ब्रेजा कार में एक व्यक्ति औंधे मुँह पड़ा हुआ दिखा जिसके शरीर पर गोलीयो के निशान थे । उक्त प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया के निर्देशन में व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी के मार्गदर्शन में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस ग्रामीण मंदसौर कीर्ति बघेल को तुरंत घटना स्थल रवाना किया गया तथा मामला प्रथम दृष्टया हत्या का होने से घटना स्थल पर एफएसएल टीम को बुलाया गया । मृतक की पहचान दिक्षांत पिता नवीन पण्डिया निवासी रेलवे कालोनी रतलाम होना पाया गया। इस संबंध में मृतक के परिजनो को सूचित किया गया उसके बाद थाने पर अपराध क्रमांक 12/2024 धारा 302 भादवी का अज्ञात आरोपी के विरूद्ध पंजीबद्ध किया गया।
विवेचना के दौरान मुखबिर से सूचना के आधार पर दिक्षांत पण्डिया का ढोढर की एक युवती के घर आना जाना है व घटना के संबंध मे उक्त युवती को जानकारी है । मुखबिर सूचना के आधार पर ढोढर निवासी युवती से पुछताछ की गई प्रारंभिक पूछताछ के दौरान युवती द्वारा बताया गया की मैं मोहसिन पिता नजीम खा निवासी परवलिया थाना रिंगनोद को करीब 10 वर्षों से जानती हूं। मोहसिन मेरे पास पिछले 10 वर्ष से आ रहा है। करीब चार-पांच वर्ष से मोहसिन मेरे अच्छे संबंध हो गये थें। वह मुझे बहुत प्यार करने लगा था तथा मेरा सारा खर्चा उठाता था। करीब दो साल से मेरी पहचान दीक्षांत पिता नवीन प्रसाद पंडया उम्र 39 साल निवासी गुजराती चाल स्टेशन रोड रेलवे कालोनी रतलाम जिला रतलाम से हो गयी थी पिछले 6 महिने से दिक्षांत लगातार मुझसे रतलाम रहने की बात को लेकर जिद करता था व कई बार गाली-गलौच भी की जिससे मैं परेशान हो गयी थी लेकिन कभी भी पुलिस में रिपोर्ट लिखाने की हिम्मत नहीं कर पायी। इसी बीच मोहसिन का मेरे यहा ज्यादा आना जाना शुरु हो गया था। करीब एक महिने पहले जब मैं काफी परेशान थी तो मोहसिन के पुछने पर मैंने उक्त बात मोहसिन को बताई थी तो उसने मुझसे बोला था कि तुम बोलो तो मैं उसे राते से हटा देता है। मेरे पास एक पिस्टल रखी हुई है।

20 जनवरी को आरोपीया व दीक्षांत नीमच के जेतपुरा में शादी में गये थे जहाँ दीक्षांत के द्वारा फिर से रतलाम लेकर जाने की जिद की व गाली गलौच की गई उसी समय मोहसीन का फोन आने पर पूरी घटना बताई फिर मोहसीन और आरोपीया ने दीक्षांत को मारने का प्लान बनाया और दीक्षांत और आरोपीया के परवलिया पहुंचते ही पूर्व से सुनियोजित तरीके से मोहसीन पिता नजीम खान अपनी मोटर साईकल पर पिस्टल के साथ इंतजार कर रहा था दीक्षांत के आने पर मोहसीन ने दीक्षांत को चार गोली मारी जिससे मौके पर ही दीक्षांत की मौत हो गई । दीक्षांत की बॉडी सहित उक्त ब्रेजा कार को आरोपीया व मोहसिन ने खोडाना गुराडीया के कच्चे सुनसान रास्ते पर जाकर खडा कर दिया और मोहसिन अपनी काले रंग की बजाज प्लेटिना मोटर साईकल पर आरोपीया के साथ वापस अपने घर आ गये । विवेचना के दौरान मुखबिर सूचना के आधार पर मोहसीन के अखेपुर भागने की सुचना मिलने पर टीम रवाना की गई जिसमे थाना भावगढ़ क्षेत्र अंतर्गत भावगढ़- नांदवेल रोड के पास से आरोपी मोहसीन को गिरफ्तार कर विधिवत मेमोरेण्डम लिया गया जिसमे आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोटर साईकल व पिस्टल जप्त की गई । आरोपी द्वारा घटना में साक्ष्य छिपाने के लिए घटना के समय पहने कपड़े व मोबाईल जला दिया गया । जिसे विधिवत जप्ती पंचनामा बनाकर जप्त किया गया । आरोपी मोहसिन पूर्व से आपराधिक प्रवृत्ति का होकर बदमाश है व पूर्व से इसके खिलाफ थाना सैलाना, रिंगनोद व कालूखेड़ा में आर्म्स एक्ट व एनडीपीएस एक्ट के तहत आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध है इसके अतिरिक्त उज्जैन, प्रतापगढ व अन्य जिलो से आपराधिक रिकॉर्ड के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा रही है। आरोपी मोहसिन पिता नजीम खाँ जाती मुसलमान पठान निवासी परवलीया व आरोपीया निवासी ढोढर थाना रिंगनोद जिला रतलाम को माननीय न्यायालय में पेश किया।

Admin
Author: Admin

Spread the love

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज