Dashpurdisha

Search
Close this search box.

Follow Us:

जिले में यूरिया उर्वरक पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध, जो किसान सहकारी समितियों के सदस्य नहीं हैं वे विक्रय केंद्र से ले सकते है खाद ले

मंदसौर । उपसंचालक संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास जिला मन्दसौर द्वारा बताया गया की जिले में यूरिया उर्वरक पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं । जिले में खरीफ मौसम में लगभग 3:475 लाख हेक्टेयर में फसलों की बोनी हो चुकी है । खरीफ फसलों की उर्वरक आवश्यकता की पूर्ति हेतु सहकारी एवं निजी क्षेत्र में वर्तमान में 5140 मे. टन यूरिया, 6188 मे. टन डीएपी, 1039 मे.टन, एम. ओ. पी., 9110 मे.टन. एस. एस. पी. तथा 7942 मे. टन एन. पी. के. का भंडारण है ।
लगातार कृषकों की यूरिया की मांग को देखते हुए सड़क तथा रेल मार्ग से लगातार यूरिया की आपूर्ति की जा रही है । अधिकांश सहकारी केन्द्रों पर यूरिया पर्याप्त उपलब्ध है, परंतु जो कृषक वर्तमान में सहकारी समितियों द्वारा कालातीत अथवा कृषक समिति के सदस्य नहीं है उनको उर्वरक की उपलब्धता हेतु जिले में नगद विक्रय केन्द्र खोले गये है । जहां मार्कफेड मन्दसौर में 249 मे. टन, मार्कफेड शामगढ़ में 373 मे.टन, मार्कफेड भानपुरा में 149 मे. टन, मार्केटिंग सोसायटी पिपलिया मण्डी में 14 मे. टन, मार्केटिंग सोसायटी सीतामउ में 20 मे.टन, मार्केटिंग सोसायटी मन्दसौर में 9 मे. टन तथा एम.पी. एग्रो मन्दसौर में 38 मे टन यूरिया उपलब्ध है । अतः उक्त नगद विक्रय केन्द्रों के माध्यम से यूरिया की आपूर्ति कर सकते है ।

Admin
Author: Admin

Spread the love

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज