Dashpurdisha

Search
Close this search box.

Follow Us:

प्रेसवार्ता में बोले राष्ट्रीय अध्यक्ष – राजनीतिक पार्टियां सालों से क्षत्रियों की उपेक्षा करती आई है यह अब नहीं चलेगा

◆क्षत्रिय करणी सेना के पदाधिकारी पहुंचे मंदसौर किया पत्रकारों को संबोधित
◆27 अगस्त को क्षत्रिय करणी सेना का भोपाल में क्षत्रिय एकता महापडाव सम्मेलन
मंदसौर । 22 जुलाई शनिवार को क्षत्रिय करणी सेना के राष्ट्रीय और प्रदेश पदाधिकारी मंदसौर पहुंचे और एक प्रेस वार्ता में पत्रकारों को संबोधित करते हुए अपनी मांगों और 27 अगस्त को भोपाल में होने वाले आयोजन की जानकारी दी ।
पत्रकार वार्ता में क्षत्रिय करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ राज शेखावत (गुजरात), प्रदेश अध्यक्ष इंदल सिंह राणा (इंदौर), प्रदेश संगठन मंत्री (पूर्णकालिक) शेरसिंह सिसौदिया, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेशाध्यक्ष साधना कुंवर चुण्डावत (मंदसौर) विशेष रूप से उपस्थित थे ।
पत्रकारों को जानकारी देते हुए डाॅ राज शेखावत ने बताया कि हमारी प्रमुख मांग है कि क्षत्रिय समाज के लोगों को 90 से 100 टिकट राजनीतिक पार्टियां दे हम उन्हीं क्षेत्रों में टिकट की मांग कर रहे है जहां हमारा बाहुल्य है और हम हमारी प्रत्याशी को जीताकर लायेंगे चाहे वह किसी भी पार्टी का हो ।
श्री शेखावत ने बताया कि इसी को लेकर आगामी 27 अगस्त 2023 को हमारा विशेष कार्यक्रम क्षत्रिय एकता महापडाव का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें हमारी प्रमुख मांगे है कि राष्ट्रीय पार्टियां क्षत्रियों को उनके प्रभुुत्व वाली समस्त विधानसभाओं में टिकटों का वितरण करें । क्षत्रिय कल्याण बोर्ड और सवर्ण आयोग का गठन, सनातन बोर्ड का गठन करना, ईडब्ल्यूएस की सभी विसंगतियों को दूर कर मात्र 8 लाख और कम आय का प्रावधान करना, क्षत्रिय छात्रों के लिए प्रत्येक जिले में हाॅस्टल का निर्माण करना, गौमाता को राष्ट्र माता का दर्जा मिलें, लव जेहाद लेंड जेहाद को रोकने हेतु कडे कानून बने, भूतपूर्व सैनिकों और शहीदों के परिवारों को सरकारी नौकरियों में प्राधनता दी जाये। एट्रोसिटी का विरोध नहीं किंतु एट्रोसिटी के दुरूपयोग को रोकने हेतु कडे कानून का गठन करना । आरक्षण का कोई विरोध नहीं लेकिन आरक्षण की समीक्षा हो । बुदेलखंड संभाग को अलग राज्य घोषित किया जाये ।ये आदि हमारी मांगे है जिन्हे हम सरकार के समक्ष रखेगे ।

प्रदेश अध्यक्ष इंदल सिंह राणा ने बताया कि 27 अगस्त 2023 को सुबह 10 बजे भोपाल मध्यप्रदेश में होने वाले इस महापडाव में देशभर के लाखों क्षत्रिय आयेंगे जो अपनी 12 सूत्रीय मांगो को लेकर जंगी प्रदर्शन करेंगे । साथ ही देश भर के कई संत महात्मा भी इस महापडाव का हिस्सा बनेंगे । आपने बताया कि हमारी मांगों की सहमति बना कर ही महापडाव की पूर्णाहूति की जायेगी । सहमति नहीं बनने पर चुनावों में क्षत्रियों द्वारा करारा जवाब इन राजनीतिक पार्टियों को दिया जाएगा ।
शेखावत और राणा ने बताया कि राजनीतिक पार्टियां सालों से क्षत्रियों की उपेक्षा करती आई है । यह अब नहीं चलेगा इस बीडा क्षत्रिय करणी सेना ने उठाया है और समस्त क्षत्रियों की अध्यक्षता में भोपाल में क्षत्रिय एकता महापडाव की तैयारियां की जा रही है । इस अवसर पर क्षत्रिय करणी सेना के अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे ।

Admin
Author: Admin

Spread the love

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज