Dashpurdisha

Search
Close this search box.

Follow Us:

जगदीश पाटीदार की मौत से क्षेत्रवासियों में आक्रोश, समाजजनों ने दिया धरना

IAS Coaching


भानपुरा (अनिल नाहर)। 68 सालों से सीलिंग की जमीन पर काबिज संधारा के किसान जगदीश पिता रामनारायण पाटीदार व उनके दो भाईयों व परिजनो को जमीन से बेदखल करने आये उधोग विभाग, प्रशासन व पुलिस की संयुक्त इस बेदखली की कार्यवाही के विरोध में जगदीश पाटीदार ने जहर खा लिया । परन्तु उधोग विभाग व पुलिस प्रशासन ने जहर खाने की घटना को गम्भीरता से नहीं लिया और किसान की कल शाम झालावाड़ में शरीर में जहर फेल जाने से मौत हो गई । जैसे ही मौत की सूचना मिली पाटीदार समाज के लोग घटना स्थल पर आने लगे और आक्रोश में देखें गये । मृतक जगदीश के शव को झालावाड़ अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए रखा गया । जहां 21जुलाई को भारी सुरक्षा के बीच पोस्टमार्टम कर डेडबॉडी परिजनों को सौंपी । जगदीश का शव लेदी चौराहा आने के पहले ही सुबह से ही भारी भीड़ जुटने लगी पाटीदार समाज के प्रदेशाध्यक्ष कृष्णकांतपटेल अपने प्रदेश पदाधिकारियों के साथ यहां पहुंचे और हजारों की संख्या में पाटीदार समाज के मध्यप्रदेश व राजस्थान से आए लोगों ने चौराहे पर अनिश्चित कालीन धरना देकर पुलिस प्रशासन व विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की । भानपुरा से लेदी चौराहा तक चप्पे चप्पे पर पुलिस की तैनाती थी, पूरे मन्दसोर जिले की पुलिस की यहां तैनाती की गई । सम्भावित घटना को देखते हुए जिले की सभी फायर फायटर को भी भानपुरा थाने पर खड़ा किया गया ।पूरी कार्यवाही पर सवाल खड़े हो रहे है कि इतनी भी क्या जल्दी थी एक 68 वर्ष से काबिज किसान को हटाकर ताबड़तोड़ औधोगिक क्षेत्र का भूमि पूजन कर उद्योगपतियों को उधोग के नाम पर प्लाट आवंटन की । जबकी मिली जानकारी के अनुसार प्रकरण न्यायालय में चल रहा है । इन रसूखदारो को किस आधार पर आवंटन किया जा रहा था और भूमि पूजन की इतनी जल्दी क्यों थी ? यह सब कार्यवाही संदेह के घेरे में है औ फिर किसान ने सबके सामने जहर खा लिया उसके बावजूद न भूमि पूजन रुका न बेदखली की कार्रवाई । यह सही की किसान काबिज था व वर्षों से जुर्माना भी भर रहा था । जब 20 साल पहले कांग्रेस शासन में यह भूमि उधोग विभाग ने अधिग्रहण कर ली थी तो 20 साल में क्या किया किसान सैकड़ो बार धरना आमरण अनशन कर चुका, हर बार उसे कुचला गया पर विधि सम्मत कार्यवाही नहीं हुई । जमीन उधोग विभाग को आवंटित कर दी राजस्व विभाग ने आज यह जमीन करोड़ों रुपये की है । इसी को लेकर यह विवाद हुआ, तीन भाइयों में से जगदीश पाटीदार इस जमीन की बलि चढ़ गया और जहर खाकर आत्महत्या कर ली । लगभग दोपहर 1.30 बजे जगदीश का शव झालावाड़ से लेदी चौराहा धरना स्थल पर पहुंचा जहां उपस्थित हजारों की सख्यां में पाटीदार समाज अन्य समाजजन ग्रामवासियो ने शव को धरना स्थल पर ही रख दिया और कहा की जब तक कलेक्टर व एसपी नही आएंगे और हमारी मांगों को नहीं मानेंगे तब तक न दाह संस्कार होगा न धरना समाप्त होगा । पाटीदार समाज के प्रदेश अध्यक्ष कृष्णकांत पटेल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा की यह घटना दिल दहला देने वाली है । जो भी इसके लिए दोषी हे उन पर धारा 302 का मुकदमा चले, मृतक जगदीश के परिवार को तत्काल एक करोड़ रुपये राशि प्रदान की जावे । परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जावे व काबिज जमीन को किसान के परिवार के नाम पर कर पट्टा पावती दी जावे । यह सभी बातें स्वीकार करने पर ही यह आन्दोलन समाप्त होगा । मौके पर अपर कलेक्टर आर पी वर्मा, एडिशनल एसपी महेन्द्र तारणेकर व अन्य अधिकारियों ने पाटीदार समाज के प्रतिनिधियो से बात की पर वह अपनी मांगों पर अडे रहे की कलेक्टर, एसपी आकर ही बात करे । धरना स्थल पर प्रदेश अध्यक्ष कृष्णकांत पटेल पाटीदार, समाज दुधाखेडी विकास समिति अध्यक्ष मांगीलाल खेर, प्रदेश कोषाध्यक्ष नरेन्द्र वेदियां, प्रदेश महामत्रीं नंदकिशोर पाटीदार, पूर्व भाजपा विधायक राधेश्याम पाटीदार, सचिव नरेन्द्र पाटीदार मन्दसौर, जिलाध्यक्ष मनीष पाटीदार पाटीदार समाज की महिला जिला अध्यक्ष नेहा पाटीदार, प्रदेश कांग्रेस महासचिव त्रिलोक पाटीदार, तहसील अध्यक्ष मनोहर पाटीदार, नारी शक्ती पाटीदार समाज की प्रदेश अध्यक्ष आशा पाटीदार, भानपुरा जनपद अध्यक्ष विजय पाटीदार, युवा अध्यक्ष जीवन पाटीदार, कांग्रेस नेता राकेश पाटीदार, दुर्गेश पटेल सहित अनेक भाजपा व कांग्रेस के पाटीदार समाज के जन प्रतिनिधी उपस्थित थे । दोनों पार्टियों के पाटीदार समाज के नेता इस घटना पर एकजुट नजर आए ।चुनाव के चार माह पहले जहर खाकर किसान की मौत भाजपा व सरकार के लिए नुकसान दायक साबित हो सकती है । पाटीदार समाज का अधिकांश मतदाता भाजपा समर्थक है । ऐसे में यह घटना समय रहते अगर ठीक नहीं किया तो आगामी चुनाव में भाजपा के लिए पूरे मन्दसौर ससंदीय क्षेत्र में नुकसान पहुंचा सकती है । जल्दबाजी का यह खेल सरकार को चुनाव के पहले भारी पड़ गया ।समाचार लिखे जाने तक धरना जारी था घटना स्थल पर भारी भीड़ जमा थी और विरोध स्वरुप लेदी चौराहा व संधारा गावं पूरी तरह बन्द रहा । धरना स्थल पर हुई सभा को राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष जीवन सिंह शेरपुर, पाटीदार समाज प्रदेश अध्यक्ष कृष्णकांत पटेल, मन्दसौर पाटीदार समाज जिलाध्यक्ष मनीष पाटीदार सहित कई ने सम्बोधित करते हुए कहा की इस घटना के लिए दोषी क्षेत्रिय जनप्रतिनिधि, तहसीलदार एसडीएम, थाना प्रभारी पर भी कानूनी कार्रवाई और जो कार्यवाही प्रदेश सरकार अन्य आरोपियों पर करती है इन पर भी वही कार्यवाही हो । उधर समाचार लिखे जाने तक जिला कलेक्टर दिलीप कुमार यादव व एस पी अनुराग सुजानिया लेदी चोराहा पहुंच गये और पाटीदार समाज के प्रदेश अध्यक्ष कृष्णकांत पटेल व अन्य प्रतिनिधियो से बातचीत कर रहे थे बातचीत जारी थी । इस बातचीत में भाजपा के पूर्व विधायक चन्दरसिंह सिसौदिया, राधेश्याम पाटीदार, जिलाध्यक्ष मनीष पाटीदार, प्रदेश कांग्रेस महासचिव त्रिलोक पाटीदार सहित अन्य शामिल हुए ।

Admin
Author: Admin

Spread the love

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज